(2021) SEO क्या है और कैसे करते है।

SEO ( Search Engine Optimization ) क्या है और website के लिए कैसे करते है | What is SEO in Hindi | यह प्रश्न हर website बनाने वाले के मन में आता है| इसका जवाब इस आर्टिकल में देने वाला हु

What is SEO ( Search Engine Optimization ) in Hindi

SEO की विशेषताएं / लाभ / आवशकताये

SEO याने Search Engine Optimisation किसी भी वेबसाइट के लिए important होता है क्योंकि से SEO  की सहायता से हम अपनी website को google के Search Engine में फ्री में Rank करवा सकते हैं  जब आप की website Google  के 1st पेज में Top 10 result में Rank हो जाती है तो आपकी  website पर  Organically millions of traffic याने unique visitors आते हैं यदि आपने Google Adsense के Ads या अन्य alternative के Ads लगाए हैं तो आप अपनी website से पैसे भी कमा सकते हैं तथा किसी भी website को  Google में  Rank करवाने के लिए बहुत से अन्य  Point important होते हैं जिन्हें में  आगे आपको बताऊंगा

What is SEO ( Search Engine Optimization ) in Hindi 

सबसे पहले हम जान लेते है की SEO का  Full Form क्या होता है

SEO का  फुल form  Search Engine optimization होता है 


SEO एक ऐसी तकनीक है  जिसके माध्यम से हम अपनी वेबसाइट को Search Engine में Rank करवा सकते हैं तो मैं उम्मीद करता हूं कि आप समझ गए होंगे क SEO ( Search Engine optimization ) क्या होता है सरल शब्दों में कहें तो SEO उसे कहते हैं जिसकी सहायता से हम अपनी website को Google के या अन्य Search Engine प्लेटफार्म में Rank करवाने  के लिए यूज करते हैं  उसे ही SEO ( Search Engine optimization )  कहते हैं और आगे हम  इससे related कहीं और important points के बारे में जानेंगे |



Seo कितने प्रकार का होता है


Seo मुख्यतः दो प्रकार का होता है

On Page SEO

Off Page SEO



What is on page SEO in hindi


मैं आशा करता हूं कि आप समझ गए होंगे कि SEO ( Search Engine optimization ) क्या होता है 

सबसे पहले हम जान लेते हैं कि On Page Seo  का फुल फॉर्म क्या होता है

On Page SEO का फुल फॉर्म  On Page Search Engine Optimization होता है

On Page SEO SEO का ही एक प्रकार है जिसे हम अपनी वेबसाइट ,Website के Article , Page  के साथ करते हैं उसे हम है On Page SEO कहते है


Website का तथा website के Artical का है On Page SEO करने से Website तथा website के Article  google के Search Engine में या अन्य  Search Engine  जैसे Bing, Yahoo आदि अन्य सर्च इंजन में Rank करवा सकते हैं यदि हम अपनी वेबसाइट का  तथा वेबसाइट  के Article का  On Page SEO नहीं करेंगे तो website  गूगल के सर्च इंजन में कभी  Rank  नहीं करवा सकते हैं इसलिए यदि हमें अपनी website को Search Engine में Rank  करवाना है तो वेबसाइट का तथा वेबसाइट के Article का On Page SEO करना बहुत ही important होता है अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि आखिर हम अपनी वेबसाइट का on page seo  कैसे करें तो इसका जवाब में आपको आगे बताने वाला हूं


On Page SEO

मैं आशा करता हूं कि आप समझ गए होंगे कि On Page SEO  क्या होता है जिसे हम अपनी website, website के Article, Page के साथ करते हैं website का On Page SEO करने के लिए बहुत से  Factor महत्व रखते हैं जो इस प्रकार है


Websites name

website name,website title , website discripation


Website Name भी seo  करने में बहुत महत्व रखता है यदि आपकी website का Name एक keyword के अनुसार है  तो आपकी website को Google में Rank करवाने में मदद करता है

Example -  यदि आप की website News की है तो आपकी website का नाम Newsday के नाम पर होना चाहिए जैसे  आप अपनी वेबसाइट पर online पैसे कैसे कमाए इससे रिलेटेड टॉपिक के पोस्ट लिखते हैं  तो आप की वेबसाइट  का नाम MakeMoney  होना चाहिए इस तरह आप की website जिस टॉपिक से रिलेटेड है उस टॉपिक के अनुसार आपको अपनी website का Name रखना अथात् लेना चाहिए 


Website title 

जैसे मैंने बताया है कि आप अपनी website का नाम Keyword के अनुसार रखें वैसे ही आपको अपनी website का title  अपनी website के content के अनुसार होना चाहिए


Website description 

Website का description भी website पर ट्रैफिक लाने में बहुत महत्व रखता है क्योंकि हर user वेबसाइट का description  पढ कर ही वेबसाइट को ओपन करता है

Website के description को Meta Data  भी कहते है website  का शॉट इंट्रो Website के description में लिखने के साथ ही keyword भी लिखना चाहिए जिस content से Related आपकी website हो लेकिन आप को ध्यान रखना चाहिए  कि वह आपकी website के Topics के अनुसार ही होना चाहिए जैसा इमेज में आपको दिखाई दे रहा है


Keyword 

अक्सर यह सवाल हर नई website बनाने वाले के मन में आता keyword क्या होता है keyword  website को Google में या अन्य search engine में Traffic लाने में बहुत महत्व रखता है  हम जान लेते हैं कि keyword क्या होता है जब भी कोई भी यूजर Google में या अन्य search engine में कुछ भी ढूंढने के लिए कुछ भी टाइप करता है उसे keyword कहा जाता है

Example-  what is seo in Hindi, News Today  आदि keywords जैसे कि आप जान चुके  होंगे   की keyword क्या होता है उसके बाद मैं आता है  की आप यह भी जान ले कि  keywords कितने प्रकार के होते हैं



Keyword  कितने प्रकार के होते हैं

Keywords मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं

1, Single or Short Tail Keywords

2. Middle Tail Keywords

3. Long Tail keywords

1, Single or Short Tail Keywords

Single or Short Tail Keywords


Single or Short Tail Keywords में वे keywords आते हैं  जो बहुत  short या Single words होते हैं उन्हें Single या Short  Tail Keywords कहते  हैं जैसे News,Money  आदि ये single keywords है तथा earn money, Hindi samachar आदि ये short keywords हैं  


2. Middle Tail Keywords

Middle tail keyword


Middle Tail Keywords  वे keywords होते हैं जो Single or Short  Tail Keywords  से बड़े हो अर्थात् जिनकी लम्बाई अधिक हो तथा जो 4 word's के हो उन्हें Middle  Tail Keywords  कहा जाता है

Example-what is domain name, what is SEO Hindi आदि ऐसे अनेक  keywords को Middle Tail Keywords कहते हैं


3.  Long Tail keywords

Long Tail keywords


 Long Tail keywords  वे keyword होते हैं  जो Single or Short  Tail Keyword, Middle Tail Keywords से  बड़े हो  उन्हें Long Tail keywords कहा जाता है 


Example - How to create website in Hindi, how to connect domain name with hosting, What is SEO in Hindi, What is on page Seo, what is off Page Seo In Hindi, what is keyword in Hindi, how to earn money online without investment आदि ऐसे ही अनेक keywords को Long Tail keywords कहे जाते हैं




Topics knowledge

जब भी आप कोई Article लिखे तब आप जिस topic के बारे में लिखें उसके बारे में आपको पूरा ज्ञान होना चाहिए जब आपको  उस Topic के बारे में ज्ञान होगा तभी आप Topic को सफलतापूर्वक लिख पाएंगे तथा यूजर को समझा पाएंगे

यदि आपको  Topic के बारे में आधा ज्ञान होगा तो आप यूजर्स को उस Topic के बारे में आधा ज्ञान दे पाएंगे जैसे आपको पता है किसी और SEO क्या होता है लेकिन आप यह नहीं जानते कि SEO कितने प्रकार का होता है और इसे अपनी website के लिए कैसे करते हैं तब ऐसी स्थिति में आप यूजर्स को आधा अधूरा ज्ञान दे पाएंगे ऐसी दशा में यूजर्स आपकी website से  Exit कर दूसरी website पर पहुंच जाएगा ऐसे में आप की website पर Traffic लगातार कम होता जाएगा तथा Google के Search Engine में या अन्य Search Engine में आपकी website की Ranking लगातार गिरती जाएगी तथा website का Bounce Rate भी लगातार बढ़ता जाएगा और ऐसी दशा में google  के Search Engine  में आपकी website की Ranking लगातार घटती जाएगी ! इसलिए आप जिस Topic के बारे में लिखें उसके बारे में पूरा ज्ञान प्राप्त करें और एक अच्छी पोस्ट लिखें जिससे  सफलतापूर्वक यूजर्स समझ पाए !


Article words

जब भी आप कोई post याने  Article लिखें वह  Minimum 500 word की होनी चाहिए तथा Maximum 2000 word की या उससे अधिक Word का भी आप Article लिख सकते हैं तो आपके Article की लंबाई अधिक होना चाहिए क्योंकि Google के Search Engine में Rank करने के लिए Article की लंबाई का महत्व होता है जैसे SEO क्या है यदि आपने इसका जवाब 500 word में दिया अर्थात् 500 word का आर्टिकल लिखा और किसी दूसरे ने तो उसी टॉपिक अर्थात् SEO क्या है इसी टॉपिक को 2000 word में लिखा और SEO से रिलेटेड सभी Question का जवाब आर्टिकल में अर्थात आर्टिकल में लिखा ! ऐसे में Google उसी की website Rank करेगा  जिस पोस्ट अर्थात् Article में Knowledge होने के साथ लंबाई अधिक हो | Google हर user को knowledgeable Content प्रोवाइड कराना चाहता है तथा 500 Word का आर्टिकल   2000 के आर्टिकल से नीचे Google के Search Engine में  Show करेगे  तथा  आप समझ गए होंगे कि Qulity Content होने के साथ Article की लंबाई भी website के Article की Ranking के लिए बहुत  इंपॉर्टेंस  रखती है


Interlinking

Interlinking से मेरा तात्पर्य अपनी Website में किसी अन्य अर्थात अपनी दूसरी Post अर्थात् Article का भी लिंक देने से है ऐसा करने से user आपकी Website पर अधिक समय तक रहता है यदि user आपकी Post अर्थात् Article से किसी दूसरे अन्य Post अर्थात् Article  को पड़ता है तो यह आपके लिए लाभदायक है क्योंकि Google यह भी देखता है कि किसी वेबसाइट पर यूजर कितनी देर तक रहता है यदि यूजर आप की Website पर अधिक समय तक रहता है तो Google को लगता है कि  आपने user को सही ज्ञान प्रोवाइड किया है तब ही वह आपकी Website पर अधिक समय तक रहा है ऐसा होने से Google आपकी Post अर्थात् Article  की Ranking बढ़ा देता है


Post url

Post url


Post अर्थात् Article  को Rank करवाने में Post अर्थात् Article  का url Same होना भी बहुत महत्व रखता है जैसे यदि आप Google में Search करते हैं कि SEO क्या है तब आप Google द्वारा दिए गए परिणामों में Post अर्थात् Article  का Title ,Url,Discripation देखते हैं और आप उसे Post अर्थात् Article  पर Click करते हैं जिसका Title ,Url,Discripation  Same हो | इसलिए आपको भी  Post अर्थात् Article का Title, URL Same रखना चाहिए ऐसा करने से आपकी Post अर्थात् Article Google में या अन्य Search Engine में  तेजी से Rank होती है इसलिए आपको अपने Post अर्थात् Article का URL  , Post अर्थात् Article  के title के अनुसार होना चाहिए


Tags or Lable

आपकी  Post अर्थात् Article किस कैटेगरी की है यह भी आपको अपनी Post अर्थात् Article में जोड़ना चाहिए जैसे tech केटेगरी की है तो आप अपनी Post अर्थात् Article में Tech के नाम से Lable या Category Techजोड़ सकते हैं ऐसा करने से आप अपने Post अर्थात् Article category-wise डिवाइड हो जाएगा | ऐसा होने से user आपके कही ओर Post अर्थात् Article को पढ़ सकता है क्योंकि यदि कोई user आपकी website पर tech से रिलेटेड Post अर्थात् Articles देखना चाहता है तो वहां Tech Label अर्थात् Category पर Click करके Articles को देख सकता है और पढ़ भी सकता है


Website Speed 

Website की स्पीड Website का SEO करने में बहुत महत्व रखती है क्योंकि यदि आप की Website की स्पीड धीमी होगी तो user आपकी Website को Quite या Exit कर जाएगा इसलिए Website की स्पीड तेज होनी चाहिए Website की स्पीड बढ़ाने के लिए आप seo फ्रेंडली Theme का भी यूज कर सकते हैं जिस theme की स्पीड तेज हो उसका अप यूज कर सकते हैं तथा यदि आपकी Website WordPress में है तो आप स्पीड तेज करने वाले Plugin को भी यूज कर सकते हैं तथा आप अपनी वेबसाइट में जो भी इमेज यूज़ करें वह लाइट इमेज होनी चाहिए


URL Submission

यदि आपने अपनी Website को तथा Website की Post अर्थात् Article के URL को Search Engine Submit नहीं करोगे तब तक आप की Website तथा Website के Post अर्थात् Article Google के Search Engine में कभी Rank  नहीं करेंगे तथा इंडेक्स ही नहीं होंगे | ऐसा होने से आपकी Website Google के Search Engine में या अन्य Search Engine  में कभी show नहीं होगी इसलिए आपको अपनी website को तथा Website के Post अर्थात्  Article  को Google के Search Engine में या अन्य Search Engine  में सबमिट करना चाहिए यदि आप Google के  Search Engine में अपनी Website को Show  करवाना चाहते हैं तो आप Google  के Gooogle Search Console में जाकर अपनी Website को सबमिट कर सकते हैं तथा आपको अपनी Website का Sitemap भी  Google Search  Console में सबमिट करना होगा ताकि Website तथा Website के Post अर्थात् Article जल्दी से Google के Search Engine में Index हो सके ऐसा करने से आपकी  Website तथा Website के Post अर्थात् Article जल्द ही गूगल में show होने के साथ ही Rank भी करने लगेंगे


User Satisfaction

मैं आशा करता हूं कि आप ने सभी On Page SEO के सारे Points बड़े ध्यान से पढ़े होंगे इतनी सब मेहनत करने के बाद User सर्टिफिकेशन भी वेबसाइट को Google में rank करवाने में महत्व रखता है क्योंकि Google Website या वेबसाइट के आर्टिकल पर User कितने Time तक रहा यह भी देखता है User Website तथा वेबसाइट के आर्टिकल पर ज्यादा समय तक रहा तो Google को लगता है कि आपके द्वारा दी गई जानकारी सही है तभी User Website तथा वेबसाइट के आर्टिकल  पर अधिक समय तक रहा है इसलिए User सर्टिफिकेशन भी  On Page SEO करने में Indirectly महत्व रखता है

 On Page SEO करने के बाद Off Page SEO भी Website या Website के Article को Google में rank करवाने के लिए के लिए बहुत महत्व रखता है इसलिए Website  या Website के Article को Google में rank करवाने में बहुत महत्व रखता है इसलिए Website तथा Website के Articlelo का Off Page Seo करना आवश्यक है


What is Off Page SEO in Hindi


Off Page SEO  क्या होता है 

 सबसे पहले हम जान लेते हैं कि Off Page Seo  का फुल फॉर्म क्या होता है

Off Page SEO  का फुल फॉर्म Off Page Search Engine Optimization होता है 


Off Page SEO SEO का ही एक प्रकार है

Off Page SEO उसे कहते हैं जिसे हम अपनी Website लिए Website के बहार करते हैं उसे ही  Off Page Seo करना कहते हैं


Off Page SEO  का महत्व

Off Page SEO Website की Ranking बढ़ाने के लिए तथा Article को Google Search Engine में Rank करवाने के लिए तथा Website की Authority बढ़ाने में भी मदद करता है साथ ही  अपने Article को Google के Search Engine में  जल्दी से Index करवाने में मदद करता है


Off Page SEO कैसे करते हैं

Website काOff Page SEO करने के लिए सबसे पहले यह जानना होगा कि Banklink तभी हम Website काOff Page SEO  कर सकते हैं

यह भी पढ़े -

घर बैठे पैसे कैसे कमाए

Backlink क्या है

Backlink क्या है

Backlink जो किसी दूसरी Website को किसी अन्य  दूसरी Website से जोड़ती है है उसे ही Backlinks कहते हैं

हम दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि यह दो या दो से अधिक Domain को आपस में जोड़ने का काम करती है

उदाहरण के लिए

जब कोई यूजर किसी दूसरी Website के द्वारा आपकी Website तक आता है तो जिस माध्यम से यूजर आपकी Website तक आया है को Backlinks कहा जाता है

 

Backlinks कितने प्रकार की होती है

Backlink मुख्यतः दो प्रकार की होती है जिन्हें हम Do Follow BacklinkNo Follow Backlink कहते हैं यह दोनों ही प्रकार की Backlink website के लिए इंपॉर्टेंट होती है


Do follow Backlink

Backlink कितने प्रकार की होती है उस पहले मैं आपको एक link से रिलेटेड एक Common Term के बारे में बताना चाहता हूं जो कि आपको जानना आवश्यक है


link juice

जब भी कोई Web Page का link आपके किसी भी Article या आपकी Website के Home Page को जोड़ता हे तो Web Page का link फॉलो होकर आपकी वेबसाइट तक पहुंचता है उसे हम link juice कहते हैं यह लिंक juice आपकी Website की Domain Authority बढाने तथा Website  को Rank करवाने सहायक होता है


Do Follow Backlink 

में आप को पहले ही link juice के बारे में बता दिया है  और में आशा  करता हु कि आप समझ गये होंगे ! Do Follow Backlink link Juice को पास करने में मदद करता हे , जो की एक Website से दूसरे Website  में जाने का रास्ता प्रदान करता है   लिंक बनता हे उसे ही Do Follow Backlink  कहते हे वैसे डिफ़ॉल्ट सारे links जो भी अपने ब्लॉग पोस्ट पर देते हो  वो सभी Do Follow Backlink होते है 


Do Follow backlink

Do Follow Backlink वे Backlink होते हे जो यूजर के साथ साथ Search Engine भी Follow करता  है

 उन्हे Do Follow Backlink कहते है

Example = मैंने  किसी Website की लिंक को  अपने Article में जोड़दी  ! जब Google का  crawler आर्टिकल  को  crawler करेगा  तो वह मेरे Article के साथ ही मेने जो दूसरी  Website की link दी है उसे भी crawl करके दूसरी भी Backlink को  भी  crawler करेगा !  ऐसे ही लिंक को Do Follow Backlink कहा जाता है


Do Follow Backlink के लाभ 

Do Follow Backlink आपके आर्टिकल को Rank करवाने में सहायक होती है साथ ही आपकी वेबसाइट की Domain Authority  बढ़ाने  में फायदेमंद होती है  


 Do Follow Backlink आप के Artical को Google के Search Engine में या अन्य किसी भी सर्च इंजन में जल्दी से इंडेक्स करवाने में भी मददगार होती है क्योकि यदि आप ने किसी दूसरी Website पर अपने Artical की link जोड़ दी है तो यदि लिंक Do Follow Backlink  हुई तो गूगल का crawler जब भी दूसरी वेबसाइट वेबसाइट या आर्टिकल को  Crawl करेगा तो आपके Article की लिंक या  Website की लिंक को   भी crawl कर आपके Article या Website को भी  कर लेगा !ऐसे में आपका आर्टिकल जल्दी ही Search Engine में इंडेक्स हो जाएगा ! 

Do Follow backlink  का 

Syntax = <a herf ="yourwebsitenmae" rel=" dofollow">taxt</a>


No Follow Backlink

No Follow Backlink  वे लिंक होते है जब कोई Website किसी दूसरी Website को link करती है लेकिन उस link के पास No Follow Tag होता है तो ऐसे में link Juice पास नहीं करता है ऐसे llink को No Follow Backlink कहा जाता है


Short डेफिनेशन No Follow Backlink वे लिंक होते  है जो  यूजर फॉलो करता है लेकिन सर्च इंजन फॉलो नहीं करता है ऐसे लिंक को No Follow Backlink कहा जाता है

Example = मेने अपनी Website में किसी  अन्य Website का link दिया है यदि मेने link के साथ No Follow Tag का उपयोग किया है तब Google का Crawler मेरे Article को Crawl करेगा लेकिन उस  link को Crawl नहीं करेगा जिस link के साथ मेने No Follow Tag का Use किया है ऐसे ही लिंक को No Follow Backlink कहा जाता है 

 No Follow Backlink भले ही आपके  Website के Article को Rank करवाने या ना  ही Website की  Domain Authority नहीं बढ़ाती है लैकिन  आपकी Website का Traffic बढ़ाने में सहायक होती है  क्योंकि जब भी आप अपनी Website के link दूसरी Website पर देते हैं यदि कोई यूजर उस Website पर है और आपके द्वारा दी गई link पर Click करता है तो वह आपकी Website तक पहुंच जाता है इससे आपकी Website का Traffic बढ़ता है  यही इसका एक खास फायदा है Do Follow और No Follow Backlink वेबसाइट पर इक्वल होनी चाहिए | आपको अपनी Website की Domain Authority बढ़ाने के लिए या अपने Article को Rank करवाने के लिए Do Follow Backlink के साथ ही  No Follow Backlink भी बनानी चाहिए क्योंकि यदि आप सिर्फ  Do Follow Backlink ही बनाते है तो Google को ऐसा लगता है कि आप Spam तरीके से Do Follow Backlink  बना रहे हैं  ऐसे में Google आपकी Website की Ranking कम करने के साथ ही Website को Search Engine Block कर सकता है इसलिए आपको दोनों ही तरीके की Backlinks बनानी चाहिए


No Follow backlink  का 

Syntax = <a href =”yourwebsite"rel=" Nofollow”>text</a>


 Low Quality Backlink 

Low Quality Backlink यह वह link होते हैं जो किसी गलत Site , Spam  , Website  से आ के आपकी Website पर आ रही होती है ऐसे ही backlinks को   Low Quality Backlink कहा जाता है यह link आपकी Website को नुकसान ही पहुंचा सकती है इसलिए आपको जब भी अपनी Website के  लिए या Article के लिए Backlink बनानी है तो यहां अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि  Backlink High Quality Domain Website से ही जुड़ी होनी  चाहिए


High Quality Backlink

High Quality Backlink वे link होते हैं जो High Quality Domain Website से आपकी Website तक आते हैं उन्हें High Quality Backlink कहा जाता है यह link आपकी Website की Authority बढ़ाने व Website की Search Engine में Ranking बढ़ाने में सहायता करती है


Quality Backlink

जब भी आप अपनी Website के लिए या आपने Article के लिए Backlink बनाना चाहते हो तो यह अवश्य ध्यान रखें कि आप अपनी Website के Niche से Related दूसरी Website पर ही link बनाए जैसे मान लीजिए कि आपकी Website Technology से Related है तो आपको Technology से Related दूसरी Website पर ही Backlink बनानी चाहिए ऐसे में आप जो link बनाते हो तो यह  Quality backlink कहीं जाएगी यह आपकी Website के लिए भी फायदेमंद है


 Social Media 

हमें अपनी Website  के लिए एक Page Profile Social Media पर बनानी चाहिए जिसमें आप अपनी Website को लिंक करते हैं आप अपनी Website  का Page Profile Facebook , Twitter, Instagram ,  Telegram या आप Website के नाम का अपना YouTube Channel बना सकते हैं ऐसा करने से आप अपनी Website के लिए Traffic Social Media से ला सकते हैं साथ ही आप की Website की  Branding भी बनना चालू हो जाएगी


Search Engine Submission 

 आप अपनी Website को सभी प्रकार के Search Engine में सबमिट करना चाहिए जैसे Bing , Google आदि अन्य Search Engine . क्योंकि Traffic किसी भी  Search Engine से आपके Website तक आ सकता है ऐसा करने से आपकी Website का टॉपिक तो बढ़ता ही है साथ ही आपकी Website पॉपुलर भी हो सकती है




 Geast Post

आप Geast  के माध्यम से आप अपनी Website के लिए या Article लिए Do Follow Backlink ले सकते हैं Geast Post का मतलब है कि जब आप किसी दूसरे व्यक्ति की Website के लिए एक Article लिखते हैं यदि आपका Article उन्हें अच्छा लगा तो वह आपके Article को अपनी Website पर Post कर देते हैं | इसके बदले आप दूसरी Website से  आप अपने किसी Article के लिए या Website  के लिए  Do Follow Backlink पा  सकते हैं इस तरीके से आप दूसरी Website से अपनी Website के लिए Do Follow Backlink   पा सकते हैं 


Paid Backlink 

आप चाहे तो आप अपनी Website के लिए या अपने किसी Article को Rank करवाने के लिए Backlink खरीद सकते हैं ऐसी कहीं Website है जो आपको Do Follow  and No Follow Backlink प्रोवाइड करती है आपको Backlinks खरीदने के समय यह अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि आप Backlinks Website के Article के Top में या Article के अंदर या Article के नीचे Backlink रखना चाहते हैं ऐसे आपको Backlink Website के Article के Top में रखना चाहिए क्योंकि Google का crawler उससे जल्दी से आपकी Website को index कर सकता है इससे आपकी Website की  Ranking Google के  Search Engine में   बढने की संभावना अधिक होती है


QNA Website 

आप QNA वेबसाइट जैसे QOURA आदि अन्य ने Website पर जाकर आप लोगों के Question का Answer देकर अपने Answer में अपनी Website का link जोड़ सकते हैं ऐसा करने से आपकी Website पर अधिक Traffic आता है

 निष्कर्ष  

मैं आशा करता हु की आप समझ गए होंगे कि  SEO ( Search Engine Optimization ) क्या है और website के लिए  कैसे करते है | What is SEO in Hindi | यदि आपको  Website  के SEO से related कोई  सवाल हे तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है |


Post a Comment

Previous Post Next Post